ईस्लाम का आतन्क काफिरो पर जीहद है।

ईस्लाम का आतन्क काफिरो पर जीहद है।

कोई भी मुसलमान हिन्दू के साथ कुछ भी गलत या हरकत करता है वो जीहाद है।

हर मुसलमान और मुल्ला हिन्दुओ को मुसलमान बनाना चाहता है, गुलाम रखना चाहता है, वा मार डालना चाहता है। और वे ऐसा हि १००० साल से कर रहे है।

१९४७ मे जिन्नाह ने Direct Action कर के हिन्दूओ को मारना शुरू करा और भारत का बटवारा हुवा – ये आशा से कि अब शान्ति रहेगी। तो ये आशा रखना मूर्खता थी, और मुसलमानो को बटवारे के बाद भी देश मे रहने देने कि बडी मूर्खता थी।

अब काश्मीर के पुलवामा मे ईस्लाम ने आतन्कि हमला कर के ४४ जवानो को मार डाले और् बहुत जवान धमाके से घायल हुवे १४ फ़ब्रुआरी २०१९ को। तो सब कहते है कि पाजिस्तान को खतम करो। ठीक है खतम करो क्यु कि ये पाकिस्तान के किया है।

किन्तु असली दुश्मन ईस्लाम है ये सच कुरान और हडीथ से साफ मालुम होता है। कोई मुसलमान अच्छा हो शकता है किन्तु इससे ईस्लाम अच्छा नहि हो शकता। सांप या उसके बच्चे कभी तो काटेंगे ही। उनको घर मे या देश मे रखना जान, धर्म और संस्कृति के लिये जानलेवा खतरा है।

तो ईस्लाम् कि जिहाद भारत मे से मिटाने के लिये हमे भारत मे से ईस्लाम को निकालना होगा और ये काम भारत के युवा हिन्दू हि कर शकते है। हर मोहल्ले मे हिन्दू युवा सन्ठन करो। आसपास वाले सब मुसलमानो को कह दो कि या तो वे ईस्लाम् छोडे या देश छोडे। जब तक वो ये ना करे तब तक ना उनसे कुछ खरीदो और् ना कुछ बेचो। और कुछ हथीयार घर मे रक्खो और कुछ अपने साथ भी रक्खो जैसे शीख रखते है (शीख लोग हिन्दू ही है।)

भारत का संविधान बिन-हिन्दू-मित्र है और हिन्दू का दुश्मन है। तो संविधान को हिन्दू-मित्र बनाओ और भारत को एक हिन्दू राष्ट्र घोषीत करो – सिकुलर नहि, क्यु कि ये सिकुलरिज़म ईसाईयत-बीमारी का परदेशी ईलाज है। ये न हिन्दू के लिये है, न हिन्दूस्तान के लि है. क्यु कि जो धर्म वेदिक धर्म का सम्मान करते है उनका हम सम्मान करते है। याद रहे हर मुस्लीम देश मे केवल ईस्लाम हि कायदेसर है। तो हमे भारत मे ईस्लाम प्रतिबद्ध चाहिये।

श्री पुष्पेन्द्र कुलश्रेष्ठ के विडीयो सुने। वो बताते है कि भारत के अन्दर ५०० छोटे पाकिस्तान बन चुके है।

ये सब से बडा खतरा है जिनको भारत के युवा सन्गठन हि मिटा शकते है। मुझे ये लगता है कि गुजरात मे गोधरा कांड का जो प्रतीशोध हुवा था वो ये फुलवामा के आतन्कि हमले का हो शकता है।

जय श्री कृष्ण

hinduunation.com

मुसलमानों पर सबसे ज्यादा काबू करने वाले देश

Source: youtube.com/watch?v=KB2niLfV-Zg

By Rare Rakwesh

मुस्लिमों के आतंक से दुखी होकर मुसलमानों पर सबसे ज्यादा काबू करने वाले देश

 

■■■■■■■■■■

 

1-चीन

रोजा ,रमजान, दाढ़ी, बुरखा सब प्रतिबंधित

2-म्यांमार

मुस्लिम को देखते ही मारने का आदेश ,मस्जिदें लगभग सभी गिरादी गयी।

3-जापान:

इस्लाम प्रतिबंधित, इस्लाम का प्रचार एक क़ानूनी अपराध संयुक्त राष्ट्र से किसी

मुस्लिम को शरण देने से साफ मना कर दिया।

4-अंकोला: इस्लाम प्रतिबंधित

5-फ्रास: 210 मस्जिदे एक दिन में गिराई।

6-ऑस्ट्रेलिया: मुस्लिम को दी चेतावनी, कानून माने या देश छोड़े।

7-ब्रिटेन: मुस्लिम से भेदभाव और नफरत।

8-अमेरिका: एयरपोर्ट पर ही चड्डी उतरवा लेना शाहरुख और आज़म खान भुक्तभोगी।

9- इसराइल: मुस्लिम का कट्टर शत्रु।

 

अब मुस्लिम देशों में मुस्लिम का हाल

 

1- पाकिस्तान –

शिया सुन्नी के नाम पर हर साल दंगे

औसतन पाकिस्तान में हर साल 400

शिया मुसलमान खत्म किये जाते हैं उनकी मस्जिदों

को सुन्नी बम से उड़ाते हैं।

2 -अफगानिस्तान :

आये दिन बम धमाके, बेकसूर मुस्लिम की हत्या।

3- इराक:

शिया सुन्नी की लड़ाई और बम धमाके।

4-ईरान:

सुन्नियों से नफरत, सऊदी अरब से नफरत।

5 -लीबिया:

आये दिन बम धमाके।

6: सीरिया:

दंगे, बम धमाके। पिछले 5 सालो में 7

लाख से ज्यादा मुसलमानों को मुसलमानों ने मारा ।

7 मिस्र :

शिया सुन्नी संघर्ष।

आये दिन बम धमके।

 

फिर भी भारत में मस्लिम पर अत्याचार होता है. यहाँ ये सुरक्षित नहीं है।

यहा ये कहीं भी मुर्दा गाडकर उस पर हरी चादर डालकर जमीन पर कब्ज़ा कर शुरू

हो जाते हैं। फिर भी असुरक्षित हैं जब चाहे मौलाना बरकती जैसे लोग प्रधानमंत्री को गाली

देते हैं। ओवेसी जेसे आतंकवादी 15 मिनट में 100 करोड़ हिन्दुओं की गर्दन काटने की

बात करते हैं। हुर्रियत के नेता पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं। बांगाल और असम के मुस्लिम गद्दारी करते हुए बंगलादेशियों को शरण दे रहे हैं.

और एक पाखण्ड का दूसरा नाम आमिर खान

इतने सारे एपिसोड

‘ सत्यमेव जयते ‘ काबू आमिर खान लेकर आया,

लेकिन कभी भी उसने इस्लाम में होने वाले

‘ हलाला ‘, ‘गजवा हिन्द”, *ट्रिपल तलाक*,

मदरसा  छाप शिक्षा, ” पत्थर बाजी ,

“जनसंख्या विस्फोट, ” बहुपत्नी विवाह, “अशिक्षा,

‘ बुरका प्रथा*, बहन से शादी,

*बकरीद पर बेजुबान और निर्दोष जानवरों को दर्दनाक तरीके से आधा गला काटकर क़त्ल करना ,

मातम के नाम पर खुद का खून बहना”, लवजिहाद और खतना जैसी सामाजिक और मानवतावादी बुराइयों पर एक भी एपिसोड नही बनाया, और हिन्दू पन्थियों की सामाजिक बुराई दिखाता रहा।

 

इतनी मनमानी प्राप्त होने पर भी

ये जिहादी कहते है कि हम पर भारत में जुल्म होता हैं।

 

(तो फिर जाओ पाकिस्तान और वहां खूश रहो।

यहां रहना है तो ईस्लाम् छोडो। – Suresh Vyas, hinduunationc.com)

जला देना होगा हर उस किताब को

Source: youtube.com/watch?v=KB2niLfV-Zg

By अंकित सिंह राजपुत

 

जब वो मुसलमान वो ३०० किलो आईईडी लेकर हमारे जवानों को मारने जा रहा था, उसे अच्छी तरह से पता था कि वो खुद भी मारा जाएगा।

 

जब वो मुसलमान २६/११ हमले करने आए थे तो उन्हें अच्छी तरह पता था कि बचेंगे वो खुद भी नहीं।

जब वो मुसलमान संसद पर हमला करने आए तब भी वो जानते थे कि वो मारे जाएंगे।

जब वो मुसलमान वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में जहाज लड़ाने जा रहे थे तब भी उन्हें पता था कि उनकी लाश भी पहचान में नही आयेंगी।

 

और इसी तरह हर बार इन मुसलमानों को पता होता है कि ये खुद भी मारे जाएंगे…

फिर भी ये हमें मारने चले आते हैं।

 

क्या लगता है? किसी सर्जिकल स्ट्राइक से ये सुधर जाएंगे?

जी नहीं जनाब, ये समस्या कहीं से भी कश्मीर की या दो देशों के बीच की समस्या है ही नहीं।

यह विशुद्ध रूप से इस्लामिक जिहाद है, यह इस्लाम के साथ ही खतम होगा।

 

या तो फिर, ताला लगा दिया जाए इनके हर मदरसे पर जहां ये बच्चों को मानव बम बनने के लिए प्रेरित करते हैं। रोक दी जाए हर जुम्मे की नमाज, जहां इकठ्ठे होकर ये अपने मजहब के प्रसार और गजवा-ए-हिन्द जैसे मुद्दों पर चर्चा करते हैं। उन सभी को चुन चुनकर मौत के घाट उतारा जाए जो इनका प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष किसी भी रूप में समर्थन करते हैं।

 

अन्यथा, सरकारों को कोसने से या डीपी बदलकर सेना को सपोर्ट करने और फिर सेक्युलर-सेक्युलर खेलने से कोई बदलाव नहीं होने वाला। ये चीजें आपके लिए मायने रखती होंगी, उनके लिए नहीं। उनके लिए सिर्फ उनकी हदीस और उनका कुरआन मायने रखता है, जो हर काफिर की मृत्यु पर इनको जन्नत का मार्ग दिखाने लगता है।

 

जला देना होगा हर उस किताब को जो इन्हें मौत के इस तांडव के लिए उकसाती है.

और यदि मृत्यु का तांडव रोकना है तो ये खूनी खेल हमें भी खेलना होगा।

अब कोई फरिश्ता बचाने नहीं आयेगा।

==

(भारत और हिन्दू के लिये समस्या का समाधान यह है :-

संविधान को हिन्दू-मित्र बना के भारत को एक हिन्दू राष्ट्र घोषित करो कि जहां ईस्लाम प्रतिबंधित होगा।

जब तक ये ना हो जाये तब तक हिन्दू मुसलमानो का आर्थिक बहिष्कार करे – ना उनसे कुछ खरीदे ना कुछ बेंचे।

मुसलमानो को कहो कि या तो वे ईस्लाम छोडे या देश छोडें। १९४७ मे देश का जो बटवारा हुवा है उसके बाद ईस्लाम को भारत मे रहने का कोई अधिकार नहि है।

हर हिन्दू अपने घर मे हथियार रक्खे और असुरों से लडने के लिये तैयार रहे।

देश के अन्दर जो ५०० छोटे छोटे पाकिस्तान बने है उन को हिन्दू युवा  को हि खतम करना होगा।

जय श्री कृष्ण

Suresh Vyas

Hinduunation.com)

 

मुसलमानो का आर्थिक बहिष्कार करना ही होगा

 

Source: youtube.com/watch?v=ONQLkoxUqfY

By LK S

 

हमारा देश और आप बहुत गंभीर परिस्थिति में है। आपका और आपके परिवार का अस्तित्व खतरे में है। पुरे देश में 1200 से अधिक mini Pakistans (no go zones) बन गए है जहा न हिन्दू न पुलिस न ही कोई सरकारी कर्मचारी निरीक्षण के लिए जा सकते है। यह आपके शहर और पास के कस्बो में ही है। मुल्ले यही स्तिथि पूरे देश में स्थपित करना चाहते है। देश का हर मुसलमान ग़ज़वा ए हिन्द में लगा है, इसीलिए यह 2 से ज्यादा बच्चे पैदा कर रहे है, यह सब आतंकवादी ही है क्योंकि यह देश में population jihad करके मुल्लो की आबादी बढाकर इसको इस्लामी मुल्क बनाने में लगे है इसीलिए इन आतंकवादियो से लड़ने का समय आ गया है। ग़ज़वा ए हिन्द की वजह से जैसे 1200 से अधिक नगरो को इनलोगो ने अपने कब्ज़े में कर लिया है वैसे ही इनका टारगेट है 5000 और नगरो में mini pakistans स्थपित करना year 2020 तक।

 

अगर सच्चे हिन्दू हो और देश से प्रेम है तो इसका प्रतिकार करो। इस पोस्ट को वायरल कर दो। हिन्दुओ के साथ शेयर करो। उन्हें समझाओ। अगर तुम यह 20 seconds का पोस्ट नहीं पढ़ सकते तो धिक्कार है तुम्हारे हिन्दू होने पे।

 

हिन्दुओ अगर अपने हिन्दू होने पे रत्ती भर भी गर्व है,

अगर हिन्दुओ के अस्तित्व को बचाना चाहते हो

अगर अपने माता, पिता, अपने भाई बहन और बच्चों से

सच्चा प्रेम है तो मुसलमानो को बहिष्कृत करो।

किसी भी मुसलमान से कोई भी वस्तु न खरीदो,

चाहे दूर जाना पड़े सामान हिन्दू दुकान से ही खरीदो।

 

किसी भी मुसलमान को सामाजिक समारोह,

विवाह और त्योहारो में न बुलाये।

यह हिन्दू बहन, बेटियो पे गन्दी नज़र रखते है, लव जिहाद के लिए हिन्दू लड़कियाँ जाँचते है।

किसी भी मुसलमान को जमीन, घर न बेचे।

किसी भी मुसलमान को नौकरी पे न रखे।

किसी भी मुसलमान से कोई भी कार्य न कराये,

अपने घर, दुकान का कोई भी साज, सज्जा, निर्माण

का कार्य हो, वो केवल हिन्दू कारीगरों से बनवाये।

 

अगर आप ऐसा नहीं करोगे तो देश का विभाजन फिर से होगा। मुसलमान सैकड़ो सालो से, हमेशा हिन्दुओ को काफिर समझकर बहिष्कृत करते रहे। वो खरीदने का, फायदा पहुचाने का व्यवहार सिर्फ अपने मुसलमानो के साथ करते रहे।

 

जहा भी इनकी संख्या 30% से कम होती, हिन्दुओ के खिलाफ क़ुरान के फरेबी और मक्कारी से भरे ‘अल तकिय्या’, ‘कितमं’, ‘तवारिया’ को मानते हुए झूठे भाईचारे का ढोंग करते रहे, और जैसे ही इनकी आबादी संख्या 30% से ज्यादा होती ये हिन्दुओ का क़त्ल करते, बहन बेटियो और उनकी पत्नियो का बलात्कार करते रहे।

 

यही मक्कारी, धोखेबाजी और कत्लेआम मचाकर मुसलमानो ने पिछले 1000 साल में हमारे 120 करोड़ हिन्दू भाइयो, बहनो और माताओ का क़त्ल कर दिया या फिर उनके (म्लेच्छ पंथ) इस्लाम में जबरन परिवर्तित कर दिया। इसका दुष्परिणाम यह हुआ की ईरान(भाग), इराक(भाग), अफ़ग़ानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश हमारे भारत से विभाजित हो गए। हमारी माँ के शरीर के अंगो को काटा गया। भारतवर्ष से 43% भूभाग छीन लिया गया। यह हमसे कमाए हुए पैसो को ही हमारे खिलाफ इस्तेमाल करते है।

 

🚩 मुल्ला भगाओ देश बचाओ 🚩

 

अब कश्मीर, पश्चिम बंगाल, केरल, पश्चिम उत्तर प्रदेश में और जहा भी मुसलमान बहुल क्षेत्र है वहा से हिन्दुओ पे अत्याचार कर के भगाया जा रहा है, हिन्दू अपने त्योहारो को नहीं मना सकते, मंदिरो में कीर्तन, घंटी वंदन नहीं होते। हिन्दुओ की बहन बेटियो को लव जिहाद में फसाकर, बलात्कार जिहाद फैला कर मुसलमान अपनी आबादी बढ़ा रहे है। अब फिर से कुछ मुल्लो ने देश को बाटने की बात कही है। आबादी के आधार पे कश्मीर तो खो चुके है। अब क्या बाकी प्रदेश भी खोना है। अगर देश को और हिन्दुओ को बचाना है तो मुसलमानो का बहिष्कार करना ही होगा।

 

source: HariBhakt हरिभक्त.कॉम

संपर्क: sanatanvishwa at gmail

 

अब भारत में वही रहेगा

जो वंदे मातरम् कहेगा

 

जय श्री राम

कोसना है तो उस शरिया संविधान को कोसों

Source: youtube.com/watch?v=ONQLkoxUqfY

By maha bharat

 

जिहादी मोलाना आंबेडकर की शरिया संविधान के जिहादी अजेंडे को समझने के लिए ठीक से पढे 370.

जिहादी कशमीरीयोंको सुरक्षा की

  • आयत 25 जिहादी वामपंथी को स्वतंत्रता की आयत 26 जिहादी मदरसों को स्वतंत्रता की
  • आयत 27 जिहादीयो की जिझिया स्वतंत्रता की
  • आयत 28 हिंदूधर्म को बदनाम करने की स्वतंत्रता की
  • आयत 29 जिहादीयो के संरक्षण के लिए
  • आयत 30 जिहादी के मदरसों के लिए संरक्षण की
  • आयत 35A कश्मीरी लव जिहाद की आयत लेकिन हिंदूधर्म के लिए एक भी शब्द भि आच्छा नहीं मिल रहा है पुरे शरिया संविधान में। लेकिन उसी शरिया संविधान में हिंदू को तोडऩे के लिए सब कुछ है जैसे आरक्षण फ्रिडम आफ स्पिच भाषा आनुसार प्रांत रचना जातीयता के कारण देश का ये हाल है।भारत को आवश्यकता है हिंदू संविधान की अखंड भारत की भगवाधारी राजनेता की लेकिन यह नहीं हो सकता क्योंकि मोलाना आंबेडकर की शरिया संविधान सेक्यूलर है। तो हिंदू कर क्या सकता है?

 

मोलाना आंबेडकर की शरिया संविधान को उखड़कर हिंदू संविधान को लागू करने के लिए तैयार और प्रयास करो। या 100 करोड हिंदू शस्त्र उठाओ 24 घंटों में सबकुछ बदल जायेगा। लेकिन इस बात को ध्यान में नहीं आता है तो हिंदूवादी अपने ही लोगों को कोसते रहोगे। कोसना है तो उस शरिया संविधान को कोसों जो खुद कुछ करता नहीं और किसी को भी कुछ नहीं करने देता। फिर भी जिहादी भिमटे धर्म और मनुमहाराज, मनुस्मृति को कोसेंगे

 

लेकिन हिंदूधर्म के लिए एक भी शब्द भि आच्छा नहीं मिल रहा है पुरे शरिया संविधान में।

लेकिन उसी शरिया संविधान में हिंदू को तोडऩे के लिए सब कुछ है जैसे

  • आरक्षण
  • फ्रिडम आफ स्पिच
  • भाषा आनुसार प्रांत रचना
  • जातीयता के कारण देश का ये हाल है।

 

भारत को आवश्यकता है

  • हिंदू संविधान की
  • अखंड भारत की
  • भगवाधारी राजनेता की

लेकिन यह नहीं हो सकता क्योंकि मोलाना आंबेडकर की शरिया संविधान सेक्यूलर है।

तो हिंदू कर क्या सकता है ?

 

मोलाना आंबेडकर की शरिया संविधान को उखड़कर हिंदू संविधान को लागू करने के लिए तैयार और प्रयास करो। या 100 करोड हिंदू शस्त्र उठाओ 24 घंटों में सबकुछ बदल जायेगा।

लेकिन इस बात को ध्यान में नहीं आता है तो हिंदूवादी अपने ही लोगों को कोसते रहोगे।

कोसना है तो उस शरिया संविधान को कोसों.

जो खुद  कुछ करता नहीं और किसी को भी कुछ नहीं करने देता। फिर भी जिहादी भिमटे धर्म और मनुमहाराज, मनुस्मृति को कोसेंगे

लेकिन अब हिंदू समझ चुका है।

जय श्री राम।