Brutal wins the war. ॥ शठे शाठ्यम् समाचरेत्॥    – Vivekanand.

From Rajput < >

From: Shriharsha Sharma < >

Brutal wins the war.    – Vivekanand.

« Breaking News media ने कभी नहिं बताया Some Facts for Secularist to Judge »

॥ शठे शाठ्यम् समाचरेत्॥

May 6, 2017 by skanda987

From: Pramod Agrawal < >

॥ शठे शाठ्यम् समाचरेत्॥

सन 711ई. की बात है। अरब के पहले मुस्लिम आक्रमणकारी मुहम्मद बिन कासिम के आतंकवादियों ने मुल्तान विजय के बाद एक विशेष सम्प्रदाय हिन्दू के ऊपर गांवो शहरों में भीषण रक्तपात मचाया था। हजारों स्त्रियों की छातियाँ नोच डाली गयीं, इस कारण अपनी लाज बचाने के लिए हजारों सनातनी किशोरियां अपनी शील की रक्षा के लिए कुंए तालाब में डूब मरीं।लगभग सभी युवाओं को या तो मार डाला गया या गुलाम बना लिया गया। भारतीय सैनिकों ने ऎसी बर्बरता पहली बार देखी थी।

एक बालक तक्षक के पिता कासिम की सेना के साथ हुए युद्ध में वीरगति को प्राप्त हो चुके थे। लुटेरी अरब सेना जब तक्षक के गांव में पहुची तो हाहाकार मच गया। स्त्रियों को घरों से खींच खींच कर उनकी देह लूटी जाने लगी।भय से आक्रांत तक्षक के घर में भी सब चिल्ला उठे। तक्षक और उसकी दो बहनें भय से कांप उठी थीं।

तक्षक की माँ पूरी परिस्थिति समझ चुकी थी, उसने कुछ देर तक अपने बच्चों को देखा और जैसे एक निर्णय पर पहुच गयी। माँ ने अपने तीनों बच्चों को खींच कर छाती में चिपका लिया और रो पड़ी। फिर देखते देखते उस क्षत्राणी ने म्यान से तलवार खीचा और अपनी दोनों बेटियों का सर काट डाला।उसके बाद अरबों द्वारा उनकी काटी जा रही गाय की तरफ और बेटे की ओर अंतिम दृष्टि डाली, और तलवार को अपनी छाती में उतार लिया।

आठ वर्ष का बालक तक्षक एकाएक समय को पढ़ना सीख गया था, उसने भूमि पर पड़ी मृत माँ के आँचल से अंतिम बार अपनी आँखे पोंछी, और घर के पिछले द्वार से निकल कर खेतों से होकर जंगल में भाग गया।

25 वर्ष बीत गए। अब वह बालक बत्तीस वर्ष का पुरुष हो कर कन्नौज के प्रतापी शासक नागभट्ट द्वितीय का मुख्य अंगरक्षक था। वर्षों से किसी ने उसके चेहरे पर भावना का कोई चिन्ह नही देखा था। वह न कभी खुश होता था न कभी दुखी। उसकी आँखे सदैव प्रतिशोध की वजह से अंगारे की तरह लाल रहती थीं। उसके पराक्रम के किस्से पूरी सेना में सुने सुनाये जाते थे। अपनी तलवार के एक वार से हाथी को मार डालने वाला तक्षक सैनिकों के लिए आदर्श था। कन्नौज नरेश नागभट्ट अपने अतुल्य पराक्रम से अरबों के सफल प्रतिरोध के लिए ख्यात थे। सिंध पर शासन कर रहे अरब कई बार कन्नौज पर आक्रमण कर चुके थे,पर हर बार योद्धा राजपूत उन्हें खदेड़ देते। युद्ध के सनातन नियमों का पालन करते नागभट्ट कभी उनका पीछा नहीं करते, जिसके कारण मुस्लिम शासक आदत से मजबूर बार बार मजबूत हो कर पुनः आक्रमण करते थे। ऐसा पंद्रह वर्षों से हो रहा था।

इस बार फिर से सभा बैठी थी, अरब के खलीफा से सहयोग ले कर सिंध की विशाल सेना कन्नौज पर आक्रमण के लिए प्रस्थान कर चुकी है और संभवत: दो से तीन दिन के अंदर यह सेना कन्नौज की सीमा पर होगी। इसी सम्बंध में रणनीति बनाने के लिए महाराज नागभट्ट ने यह सभा बैठाई थी। सारे सेनाध्यक्ष अपनी अपनी राय दे रहे थे…तभी अंगरक्षक तक्षक उठ खड़ा हुआ और बोला—

महाराज, हमे इस बार दुश्मन को उसी की शैली में उत्तर देना होगा।.

महाराज ने ध्यान से देखा अपने इस अंगरक्षक की ओर, बोले- “अपनी बात खुल कर कहो तक्षक, हम कुछ समझ नही पा रहे।”

“महाराज, अरब सैनिक महाबर्बर हैं, उनके साथ सनातन नियमों के अनुरूप युद्ध कर के हम अपनी प्रजा के साथ घात ही करेंगे। उनको उन्ही की शैली में हराना होगा।”

महाराज के माथे पर लकीरें उभर आयीं, बोले- “किन्तु हम धर्म और मर्यादा नही छोड़ सकते सैनिक। ”

तक्षक ने कहा-

“मर्यादा का निर्वाह उसके साथ किया जाता है जो मर्यादा का अर्थ समझते हों। ये बर्बर धर्मोन्मत्त राक्षस हैं महाराज। इनके लिए हत्या और बलात्कार ही धर्म है।”

“पर यह हमारा धर्म नही हैं बीर”

“राजा का केवल एक ही धर्म होता है महाराज, और वह है प्रजा की रक्षा। देवल और मुल्तान का युद्ध याद करें महाराज, जब कासिम की सेना ने दाहिर को पराजित करने के पश्चात प्रजा पर कितना अत्याचार किया था। ईश्वर न करे, यदि हम पराजित हुए तो बर्बर अत्याचारी अरब हमारी स्त्रियों, बच्चों और निरीह प्रजा के साथ कैसा व्यवहार करेंगे, यह आप भली भाँति जानते हैं।”

महाराज ने एक बार पूरी सभा की ओर निहारा, सबका मौन तक्षक के तर्कों से सहमत दिख रहा था। महाराज अपने मुख्य सेनापतियों मंत्रियों और तक्षक के साथ गुप्त सभाकक्ष की ओर बढ़ गए।

अगले दिवस की संध्या तक कन्नौज की पश्चिम सीमा पर दोनों सेनाओं का पड़ाव हो चूका था, और आशा थी कि अगला प्रभात एक भीषण युद्ध का साक्षी होगा।

आधी रात्रि बीत चुकी थी। अरब सेना अपने शिविर में निश्चिन्त सो रही थी। अचानक तक्षक के संचालन में कन्नौज की एक चौथाई सेना अरब शिविर पर टूट पड़ी। अरबों को किसी हिन्दू शासक से रात्रि युद्ध की आशा न थी। वे उठते,सावधान होते और हथियार सँभालते इसके पुर्व ही आधे अरब गाजर मूली की तरह काट डाले गए।

इस भयावह निशा में तक्षक का शौर्य अपनी पराकाष्ठा पर था।वह घोडा दौड़ाते जिधर निकल पड़ता उधर की भूमि शवों से पट जाती थी। आज माँ और बहनों की आत्मा को ठंडक देने का समय था….

उषा की प्रथम किरण से पुर्व अरबों की दो तिहाई सेना मारी जा चुकी थी। सुबह होते ही बची सेना पीछे भागी, किन्तु आश्चर्य! महाराज नागभट्ट अपनी शेष सेना के साथ उधर तैयार खड़े थे। दोपहर होते होते समूची अरब सेना काट डाली गयी। अपनी बर्बरता के बल पर विश्वविजय का स्वप्न देखने वाले आतंकियों को पहली बार किसी ने ऐसा उत्तर दिया था।

विजय के बाद महाराज ने अपने सभी सेनानायकों की ओर देखा, उनमे तक्षक का कहीं पता नही था।सैनिकों ने युद्धभूमि में तक्षक की खोज प्रारंभ की तो देखा-लगभग हजार अरब सैनिकों के शव के बीच तक्षक की मृत देह दमक रही थी। उसे शीघ्र उठा कर महाराज के पास लाया गया। कुछ क्षण तक इस अद्भुत योद्धा की ओर चुपचाप देखने के पश्चात महाराज नागभट्ट आगे बढ़े और तक्षक के चरणों में अपनी तलवार रख कर उसकी मृत देह को प्रणाम किया। युद्ध के पश्चात युद्धभूमि में पसरी नीरवता में भारत का वह महान सम्राट गरज उठा-

“आप आर्यावर्त की वीरता के शिखर थे तक्षक…. भारत ने अबतक मातृभूमि की रक्षा में प्राण न्योछावर करना सीखा था, आप ने मातृभूमि के लिए प्राण लेना सिखा दिया। भारत युगों युगों तक आपका आभारी रहेगा।”

इतिहास साक्षी है, इस युद्ध के बाद अगले तीन शताब्दियों तक अरबों कीें भारत की तरफ आँख उठा कर देखने की हिम्मत नही हुई।

तक्षक ने सिखाया कि मातृभूमि की रक्षा के लिए प्राण दिए ही नही, लिए भी जाते है, साथ ही ये भी सिखाया कि दुष्ट सिर्फ दुष्टता की ही भाषा जानता है, इसलिए उसके दुष्टतापूर्ण कुकृत्यों का प्रत्युत्तर उसे उसकी ही भाषा में देना चाहिए अन्यथा वो आपको कमजोर ही समझता रहेगा।

यह पोस्ट आपके की मोहताज नही है। भारत के इतिहास की यह गौरवशाली कथा उच्च कोटि की ही है। बस आपसे इतना विनम्र निवेदन है कि पसन्द आये तो forward अवश्य करें .

India is in terrible mess due to two laws in one nation.

 

जेट ऐरवेयस् को बचाना = जनता का पैसा लूटाना

From: Omega < >

जेट ऐरवेयस् को बचाना = जनता का पैसा लूटाना

Very important & Alarming news about Vijay Malya by London’s Court.

*वो अदालत ना भाजपा की थी ना RSS की थी।*

*वो अदालत हिंदुस्तान से लगभग साढ़े छह हजार किलोमीटर दूर स्थित लन्दन की थी।*

शुक्रवार को माल्या केस में सुनवाई करते हुए न्यायधीश एम्मा आर्बथनॉट ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि, *माल्या की एयरलाइंस कंपनी किंगफिशर को कर्जा देने में भारतीय बैंकों ने अपने ही नियमों-कानून का जबरदस्त उल्लंघन किया, लोन देने में नियमों की धज्जियां उड़ाई गयीं।*

यह बात ‘बंद आंख से भी’ देखी जा सकती है।

लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट की उपरोक्त👆🏼टिप्पणी की *तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और वित्तमंत्री चिदम्बरम द्वारा बैंकों की आपत्ति के बावजूद माल्या को कर्ज़ देने का आदेश देनेवाली उन चिट्ठियों को जिनमें बेंकों द्वारा ब्लैकलिस्ट किये जा चुके विजय माल्या को हज़ारों करोड़ का कर्ज और अधिक कर्ज़ देने की पैरवी और सिफारिश स्पष्ट शब्दों में बहुत खुलकर की गयी थी।*

अतः शुक्रवार को लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट ने भारतीय बैंकों द्वारा विजय माल्या को कर्ज देने में की गई जिस धांधली और भ्रष्टाचार को खुलकर उजागर किया है उसका जिम्मेदार क्या केवल बैंकों के अधिकारियों को माना जाए ? *क्या किसी बैंक अधिकारी को यह अधिकार होता है कि वह देश के प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री द्वारा बाकायदा चिट्ठी लिखकर दिए गए आदेश को नकार दे ?*

अतः लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की *न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट ने शुक्रवार को बहुत साफ कर दिया है कि भारत से बैंकों का हज़ारों करोड़ लूटकर भागे विजय माल्या से ज्यादा उस लूट का जिम्मेदार क्यू ना तब के भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ओर वित्तमंत्री पी चिदंबरम को माना जाये ?*

*राहुल गांधी को लन्दन की उस अदालत की टिप्पणी के बाद शर्म आनी चाहिए* और देश को जवाब देना चाहिए कि कांग्रेसी प्रधानमंत्री, वित्तमंत्री की जोड़ी ने बैंकों द्वारा ब्लैक लिस्ट हो चुके विजय माल्या को कर्ज देने की सिफारिश चिट्ठी लिखने का वह भ्रष्टाचारी कुकृत्य क्यों किया था (जिसकी कलई लन्दन की अदालत में भी खुल रही है) ?

*आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि कभी भी किसी भी सड़कछाप नेता के बयान को विवादित बताकर उसपर घण्टों बहस करनेवाले न्यूज चैनलों से लन्दन की अदालत की न्यायाधीश के बयान का समाचार गधे के सिर से सींग की तरह गायब है।*

*भाइयों तथा बहनों , भेज दो इस मेसेज को पूरे देश तथा विश्व में रहने वाले भारतीय नागरिको को* 👍👍

 

Bharat’s VETERANS’ DILEMMA

From Rajput < >

VETERANS’ DILEMNA. WHETHER TO VOTE FOR A PARTY OR USE NOTA

Dear Veterans,

Where the electorate is well informed and well educated the choice of voting is left to the INDIVIDUAL. This is the case where EDUCATION and TRANSPARENCY are key words in elections and MEDIA are free and fearless.
 
But where the masses have the awareness of the CATTLE**, that can be manipulated, or driven, in any direction, where a political Party can simply surrender one third of one’s country of birth (without a single condition!), where in a DEMOCRACY we see the father grooming his own daughter for his post, where even his grandson gets the “throne” automatically, and even great grandson is the serious contender for the post of prime minister simply to PERPETUATE the one dynasty rule, and where a prime minister who conceals her conversion to Islam (Maimoona Begum a,k.a. Indira Gandhi) declares Emergency, not to mobilize the nation to recover North Kashmir or Lahore and Dhaka, but to silence the opponents and thereafter launches a ferocious army assault against Sri Harmandir Sahib in Amritsar, maliciously on the occasion of a historic gurpurb (repeat of the Jallianwala Bagh massacre 65 years earlier) to maximize casualties, the conclusion ought to be crystal clear as to where to cast one’s vote for peace through communal harmony, and prosperity through honest administration, eradication of corruption & scams, and even the survival of the native faiths from the aggressive Proselytism by the fanatic monolithic FOREIGN religions.
** Pandit Jawaharlal was advised to demand Referendum over Partition. He dismissed the suggestion offhand, saying, “WHO CONSULTS THE CATTLE?” So, there went our Lahore, Dhaka, Karachi and even Sri Nankana Sahib – and India’s historic border suddenly dropped (to Nehru’s concealed joy and Gandhi’s sulking consent) from Khyber Pass down to Atari, in the middle of Punjab! What the Moguls could not do in centuries, NEHRU accomplished in one day, partitioning Bengal, Kashmir, Assam and Punjab!
 
The citizens, including the gallant armed forces, of our great country, renowned as the cradle of ancient civilization, neither rose as one man to DEFEND our sacred land nor have the rulers ever mentioned “Partition” from any official podium since! Wouldn’t that be the “awareness of the cattle” with regard to our cherished (eternal) “Akhand Bharat” that suddenly “died” on August 15, 1947 – and NEVER mentioned again?
 
For All-India Congress Party it is, therefore, a matter of life and death to STICK TO POWER in order to keep that gigantic BETRAYAL of Hindusthan under wraps for as long as possible. They know more than all the Hindus, Sikhs and Buddhists put together that the punishment of that HIGH TREASON for Gandhi and Nehru was death!
 
So please choose wisely the leader who is sincere, honest, hardworking, incorruptible, impartial and has the dynamism to inspire. Above all, he should come close to Netaji Subhash Chandra Bose with regard to all these qualities and genuine love of the country and people. 
 
Your wise choice will save the country from internal upheaval and foreign aggression. Both are waiting in the wings- not to forget that Partitioned India has the largest “FIFTH COLUMN” on earth, ever ready to administer ‘coup de grace’ to the middle fragment of India (Bharat) in which the writer was born.
 
rajput
17 April 2019

जानो क्या किया मोदि जी ने

From; Vinay Kapoor < >

Contributor: Brig AKKhosla (Retd.)
..#मोदी के एक नहीं 100 काम बता रहा हूं पूरा पढ़ने कि हिम्मत तो करो……
#कृपया खानदान के गुलाम, संकीर्ण जातिवादी मुर्ख, परिवारवादी,बामपंथी, आतंकी, अलगावादी समर्थक इसे पूरा पढ़ने कि कोशिश नहीं करे अन्यथा उनको हार्टअटेक या ब्रेनस्टोक होने या फिर कोमा में जाने का खतरा है या फिर भी पागल हो सकते  हैं|
1)  देश का सबसे बड़ा सरदार सरोवर बांध को पुर्ण कराया जिसे लौह पुरुष पटेल के नाम से बनने के कारण 65 साल से अटकाया गया था|
2)  देश का सबसे लम्बा भूपेंद्र हजारिका सेतु 9.15km को बनाया जिसे पिछली सरकार चीन के डर से रोका था|
3) देश की सबसे लम्बी चनानी -नौशेरा सुरंग बनाया जिसे पिछली सरकार ने अटकाया था|
4)  विश्व की सबसे ऊंची रेल्वे ब्रिज चिनाब नदी पर बना जिसका काम 2008 में रोका गया था|
4)  वन रेंक वन पेंशन सेना को उसका हक दिया जिसे पिछली सरकार 45 साल से छल रही थी|
5)  2014 से पहले मात्र तीन शहर मेट्रो आम जनता के लिये चलता था और 2014 से 19 के बीच
मुम्बई चेन्नई जयपूर कोच्चि हैदराबाद लखनऊ अहमदाबाद नागपूर मे भी मेट्रो ट्रेन जनता के लिये खोल दिये गये|
6)  मेट्रो ट्रेन का रुट 2014 मे  km 250 था अब 2019 मे 650 km हैं मोदी सरकार ने 5 साल मे 400 km का रुट बना के पूर्ण कर दिया|
7)  किसान सम्मान निधि योजना के तहत 12 करोड़ सिनियर सिटिजन छोटे सीमान्त किसानों को 6 हजार रुपए पेन्शन की व्यवस्था किया गया हैं मोदी सरकार ने आजादी के बाद पहली बार अन्यदाता के लिये पेन्शन योजना लागू किया|
8)   मोदी ने आंबेडकर को दिया गया सम्मान चार साल मे ही पूर्ण
महू में जन्म भूमि
नागपूर में दीक्षा भूमि
मुम्बई में चैत्य भूमि
दिल्ली में कर्म भूमि
लंदन में बाबा साहेब स्मारक
बनवाया है|
9)   देश का पहला 14 लेन राजमार्ग दिल्ली – मेरठ एक्सप्रेस वे मात्र 1एक साल 4 माह मे पूर्ण कर दिया मोदी सरकार ने..
10)   देश कि प्रथम जल मार्ग गंगा नदी(बनारस से हल्दीया के मध्य ) मे बनाया वह भी चार साल मे शुरू भी हो गया |
11)   भरुच जिले मे नर्मदा नदी पर देश का सबसे लम्बा एक्स्ट्रा  डाज्ड केवल ब्रिज निर्माण पूर्ण किया|
12)   देश का सबसे बडा सोलर प्लांट 75मेगावॉट का मिर्जापुर UP मे पूर्ण पूर्ण हुआ |
13)   विश्व का सबसे उचित मूर्ति स्टेच्यू ऑफ यूनिट सरदार पटेल का समयबध्यता से पूर्ण हुआ|
14)   ग्रामीण शहर गांव मे बिजली 70% थी 2014 मे अब 95% हैं 2018 मे|
15)   नेशनल हाइवे 1947 मे 21000 km था और 65साल मे बढ़ कर 2014 मे मात्र 91285 km हुआ  अब 2018 मे 131326 km हो गया हैं 44%कि ज्यादा हो गयी हैं|
16)   देश कि पहली न्यूक्लिअर सबमरीन 2016 मे नौसेन मे शामिल किया ऐसा करणे वाला विश्व का छटा देश बना और 6 नये सबमरीन खरीदने का समझौता किया|
17)  2014 तक 13 करोड़ वैलिड गैस कनेक्शन था अर्थात 55% घरो मे थी अब 2019 तक 25 करोड़ हो गई 90 %घरो  तक हो गई|
18)  चेन्नई का इंटिग्रेटेड कोच फ्रेक्ट्रि रेल्वे कि विश्व का सबसे बड़ी रेल फेक्टरी बनी चीन को पछाड कर बना रिकार्ड 2919 कोच का निर्माण किए|
19)   नासा ने सेटेलाईट पिच्चर के आधार पर अपने रिपोर्ट मे बताया कि कुछ सालो से भारत और चीनी ही दुनिया को सबसे ज्यादा हराभरा हुआ अर्थात विकास के साथ पर्यावरण का भी ख्याल रखा|
20)    2.5 साल मे ही 50 साल पुरानी मांग 22600 शहीदो के सम्मान मे नेशनल वार मेमोरियल बनाया गया|
21)   भारतीय पुंजी निवेश दुगना हो गया 2013 मे 1 ट्रिलियन था अब 2018  मे 2 ट्रिलियन हो गया हैं|
22)   2014 मे प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 30 हजार मिलियन डालर था अब 2018 मे 136 हजार हो गया 450 % ज्यादा हो गया|
23)  2014 मे ग्रामीण सडक से जुडी बस्ती मात्र 55% थी अब 2018 मे 91% हो गयी हैं|
24)   ग्रामीण क्षेत्रों मे शौचालय 2014 मे 38% था अब 2018 मे बढ़कर 95% हो गया हैं|
25)  देश कि सबसे बड़ी गैस वितरण योजना का लोकार्पण किया 400 जिले को नेटवर्क से जोडा है|
26)   भारत का सबसे लम्बा 4.9km कि रेल सह सडक पूल डिब्रुगह असम मे बौगिबेल पूर्ण कराया जिसे 2002 मे अटल सरकार ने शुरू किया था और कांग्रेस कि सरकार ने चीन का डर से रोक सकता है उसे मोदी सरकार ने अब पूर्ण करा दिया है|
27)   1998 मे अटल सरकार ने सुखोई लडाकु विमान खरीदा था और काँग्रेस कि दस साल के शासन मे एक भी नहीं खरीदा कहते थे पैसे पेड पे नहीं लगता है और अब मोदी सरकार ने राफेल लडाकु विमान खरीद …
28)  पिछली सभी काँग्रेस कि सरकार ने कुल 52 सेटेलाईट लाँच किये थे मोदी सरकार ने 4.5साल मे अबतक देशी विदेशी 270 सेटेलाईट लाँच कर चुके हैं|
29)  अमेठि ऊँचाहार रेल्वेलाईन जिसका वादा इंदिरा राजीव सोनिया राहुल ने किया था उसे मोदी सरकार ने पूरा किया|
30)  12हजार हार्स पावर का दमदार इंजिन मोदी सरकार ने बनाया पहले सिर्फ 6हार्स पावर का रेल इंजिन बनता था|
31)  1988 तक भारतीय रेल कि सबसे तेज ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस 150 km था और 26 साल तक उसे पिछली सरकार नहीं बढ़ा पा रही थी मोदी सरकार ने t-18 ट्रेन को 180 km कि तेज गति से चलाकर दिखा दिया|
 32)   मोदी सरकार ने 1.19लाख गाँव ग्राम पंचायत को आप्टिक फायबर से जोडा….
33)  उजाला योजना से 31 करोड LED बल्ब को सस्ते दर मे बल्ब वितरण किया|
34)  प्रधानमंत्री सडक योजना से अबतक 1.80 KM लाख सडक बना चुकी है
मोदी सरकार का काम बोलता है|
35)  देश का पहला रेल विश्वविद्यालय वडोदरा मे बन कर तैयार ऐसा करने वाला विश्व का तिसरा देश बना|
36) 1980 से भारतीय सेना कि जरूरत और मांग देश कि पहली गहन जलमग्न बचाव वाहन (DSRV)नौ सेना को मिला 2018 मे….
37)   20 साल बाद विदेशी निवेश 2018 मे चीन से ज्यादा हुआ मोदी सरकार कि सफल विदेश नीति के कारण हुआ  भारत का 38 बिलियन डालर और चीन का 32बिलियन डालर….
38)  बोफोर्स घोटाल उजागर होने से सेना की जरूरत को फाइल में लटकाया की 30 साल बाद सेना को हल्के हाविज्वर तोप मिला|
39)  जन धन योजना से अब तक 31.31करोड़ गरीबों का बैंक में खाता खुला है एक माह में 18करोड़ खाता खुलने को विश्व रिकार्ड है|
40)   उज्ज्वला योजना में ग्रामीण गरीब महिलाओं को GPG गैस दिया रहा है अब तक 6 करोड़ से ज्यादा लोगों ने लाभ उठा चुके है|
41)   मुद्रा योजना लागू किया इसमें लघु    छोटे उद्योग को 10लाख का लोन दिया जाता है अब तक लोन 12 करोडो लोगो  को दिया गया पिछली सरकार तो सिर्फ माल्या और नीरव मोदी चौकसे  जिंदल  जय प्रकाश ग्रुप जैसे उद्योगपती को ही मिलता था|
42) एशिया कि सबसे लम्बी सुरँग जोजीला लेह कारगिल लड्डाख बनाया जा रहा है जो कि सेना के लिये अति आवश्यक है जिसे पकिस्तान चीन और आतंकियो के डर नहीं बनने दिया जा रहा था|
43)   किसन गंगा हैड्रोपावर (330 मेगावॉट )पूर्ण कराया जिसे पिछली सरकार 1960 से पकिस्तान के डर या प्रेम या पाक प्रेमियों के वोट बैंक कि नाराजगी के कारण अट्काय जा रहा था|
44)   कृषी भूमी हेल्थ कार्ड योजना लागू किया गया है  इसमें मिट्टी जमीन कि जांच करके किसानों को कोन सी खेती करना और कितना खाद का उपयोग करने संबंधित जानकारी मुफ्त में दिया जाता है|
45)   फसल बीमा योजना में पहले 50% नुकसान पे बीमा मिलता था अब किसान को 33% पर भी मिल जाता है और युरिया को नीम कोटेड किया कलाबाजारी खत्म हुआ अब देश मे युरिया की कोई कमी नहीं है|
46)   युनिवर्सल अकाउंट नम्बर UAI से करोडो श्रमिक को EPF खाता खौलना और फंड ट्रान्सफर करना आसान किया इसमें भ्रष्टाचार को रोका और श्रमिकों के हितों कि सुरक्षा का प्रावधान है|
47)   मेक इन इंडिया के करण विश्व का दुसरा मोबाईल उत्पाद देश बना 2013-14 में 3% होता था अब 11% होता है |
48)   2013-14 में सोलर ऊर्जा उत्पादन 3350 GWS होता था अब 25872 Gws होता है लगभग आठ गुना ज्यादा और अब विश्व में दुसरा स्थान है|
49)  बिजली उत्पादन 2013-14 से अब तक 40% ज्यादा हो रहा है रुस को पछाड कर विश्व में तिसरा स्थान है |
50)  प्रधानमंत्री आवास योजना -चार साल में एक करोड़ पचास लाख गरीबों के लिये बनाया।  पिछले 65 साल का  कुल योग मात्र 77 लाख  है|
51) प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना – एक रुपया महिना में दो लाख का दुनिया का सबसे सस्ता बीमा 15 करोड़ से ज्यादा लाभार्थी…
52)   लाखो स्कूल और माता बहनौ गरीबों के लिये  10करोड़ शौचालय बनाया|
53)  2014 मे भारतीय रेल स्टेशन मे एस्लेटेर कि संख्या 199 थी और अब 2019 मे 603 हो गई|
54)  2014 मे भारतीय रेल स्टेशन मे लिफ्ट  मात्र 97 थी और 2019 मे लिफ्ट  अब 445 हो गई|
55)   8948 मानव रहित लेवल क्रॉसिंग को मोदी सरकार ने हटाया गया जो रेल मे दुर्घटना का मुख्य कारण था जिसका वादा पिछले 40 साल से सभी सरकार करते आ रहे थे|
56)  2004-14 (दस साल )के मध्य भारतीय रेल ने मात्र 413 रेल रोड ब्रिज और अंडर ब्रिज का निर्माण किया और 2014-19 (पांच साल )के मध्य 1220 का निर्माण पूर्ण हुआ लगभग तीन गुना ज्यादा|
57)   पांच साल मे 118 नये मेडिकल कालेज खुले है PG के 15000सीटें और MBBS के 18643सीटें बढ़ गई|
58)  2013-14  देश के बजट  में टोटल आय में  कर्ज   25% लिया जाता था  और व्यय खर्च में ब्याज कि  देनदारी का हिस्सा 24% था.
2018-19 में बजट  में  टोटल आय में कर्ज  का हिस्सा 19% और व्यय खर्च में ब्याज का हिस्सा 18% है,
इतने कम समय में इतना कम लोन  करने देश के अन्य PM को छोड़ो विश्व के किसी भी नेता का रिकार्ड नहीं है|
59)  मोदी सरकार के कार्यकाल में राजकोषीय घाटा औसत 3.4%  और राजस्व घाटा 2.2% है पिछली सरकार के औसत से 30%कम है बजट घाटा इतना कम किसी और  PM ने कभी  नहीं किया है|
60)  प्रथम बार लोकपाल कि मांग 1967 मे उठा था इंदिरा ने 1971 मे राजीव ने 1985 मे संसद मे पेश किया और दो तिहाई से ज्यादा बहुमत होते हुये भी लटका दिया और अब 52 साल बाद मोदी सरकार ने प्रथम लोकपाल पिनाकी चंदघोष की नियुक्ति किया है|
61)  मोदी सरकार ने अब तक 1500 से ज्यादा निरर्थक अप्रचलित पुराने कानून को रद्द कर दिया जो आज के प्रशासन के लिये सरदर्द थे ऑर 1600 पुराने कानून को भी रद्द करने के लिये चिन्हित किया गया हैं पिछले 65 साल मे मात्र 1301 पुराने कानून को रद्द किया गया था|
62)  बुलेट ट्रेन मुम्बई ऑर अहमदाबाद के मध्य काम चालू हैं ऑर 1 लाख करोड़ रुपए जपान लगा रहा हैं इतनी दरियादिली किसी ऑर देश या प्रोजेक्ट मे अब तक नहीं दिखाई मोदी के फ्रेंडली विदेशनिती का नतीजा हैं|
63)  केंद्रीय कर्मचारीयो क़े ग्रेड 3 और 4 की इंटरव्यू खत्म किया भर्ती मे  भ्रष्टाचार पर रोक और प्रमाणपत्र क़े फोटो कापी मे स्वप्रमाणित नियम बनाया छात्रों को अधिकारीयो क़े चक्कर लगाने से छूट मिला|
64)   जिनेरिक (जन औषधी ) दवा केन्द्र 2014 तक मात्र 80 था अब 5000 से ज्यादा है यहां 70% तक सस्ता दवा मिलता है हार्ट क़े स्टेंट मे 80% दाम मे कमी किया|
65)  2013 मे प्रति व्यक्ती आय 86647 से पांच मे बढ़कर 125367 रूयय 45%ज्यादा हुआ|
88)   स्टेंडर्ड एंड पुअर S & P विश्व विख्यात रेटिंग एजेंसी ने 10 साल बाद भारत कि रेकिन्ग में सुधार किया पहली बार  BBB – किया 2017 में  यह रेटिंग देश कि अर्थव्यवस्था मजबुती ऑर सुधार को प्रदर्शित करता है|
89)   मुडीस विश्वविख्यात रेटिंग देने वाली एजेंसी ने 2004 के के बाद 2017 में पहली BAA2 किया ये देश कि अर्थव्यवस्था में सकारात्मक सुधार ऑर विकास सुधार के लिये दिया गया है|
90)  विश्व बैंक ने व्यापर में सूगमता (easy of doing business)में भारत कि रेन्किन्ग 2014 में 134 थी अब 2018 में सुधार हो के 77हो गयी है यह मोदी सरकार के व्यापर में सरकारी हस्तक्षेप बाधा भ्रष्टाचार कम होने के लिये हुआ है|
91) संयुक्त राष्ट्रसंघ UN ने मोदी को सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान चेम्पियन्स आफ द अर्थ 2018 में दिया है जो कि मोदी द्वारा 121देशों को साथ लाकर बनाया गये आंतराष्ट्रीय सोलर गथबन्धन के लिये ऑर सौर ऊर्जा उत्पादन बढ़ाने के लिये दिया गया|
92)  आंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष IMF कि रिपोर्ट 2017 में कहा गया कि दुनिया कि सबसे तेजी से उभारती अर्थव्यवस्था है ऑर पिछले तीन साल में बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देशों में सबसे कम कर्ज लिया है|
93)  प्रतिस्पर्धी अर्थव्यवस्था वाले देशों में अब भारत कि रेन्किन्ग 58 है जो कि 2014 में 71 थी 13देश को पीछे छोड दिया है देश मे स्वस्थ प्रतियोगी बिजनेस का माहौल बनाया |
94)  संयुक्त राष्ट्रसंघ UN रिपोर्ट 2017 में कहा गया है देश में पाँच से कम उम्र के बच्चो कि मृत्यु में 25% कि कमी  हुई है जो कि खाद्यसुरक्षा साफ पानी शौचालय निर्माण ऑर स्वच्छता अभियान के कारण हुआ है|
95)  आंतराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संस्था 2017कि रिपोर्ट में कहा गया कि भारत दुनिया कि सबसे तेजी से बढ़ता विमानक बाजार निर्माण केंद्र बन गया है
96)  देश स्टील उत्पादन में बढ़ोतरी हुआ और पहली बार  जापान को पीछे छोड के दुसरा स्थान मिला |
97)   देश मे चीनी उत्पादन में बढ़ोतरी हुई विश्व मे पहला स्थान मिला ब्रजील को पिछड़ा|
98) आटोमोबाईल बाजार वृद्धी किया मचौथा स्थान मिला जर्मनी को पछाडा|
99)  मोदी क़े अपील पर 1करोड़ 15 लाख लोगो ने गैस सबसिडी छोड दिया ये भी एक बहुत बड़ी उपलब्धि है|
100)  2013 – 14 में सिर्फ 3.8 करोड़ लोगो ने इन्कम टेक्स रिटर्न जमा किया था.
2017 -18 में 6.86 करोड़ लोगो ने इनकम टेक्स रिटर्न  जमा किया जो कि 2013_14 से 80% ज्यादा है लोगो ने सालाना 2.5 लाख रुपए कमाय है जबकि 2 लाख कामाने से तुलना करे तो 120% ज्यादा होगा
यदि इसी प्रकार चार- पाँच सालो में 80- 120 % कि बढ़ोतरी प्रत्येक सरकार 1947 से करती रहती तो हमारा देश इस समय किस ऊँचाईयो और बुलन्दियो पे होते
 दोस्तों कमी ढूंढना आसान है| लेकिन पाँच साल मे मोदी से बेहतर काम  करने वाला प्रधानमंत्री आकडे देकर ढूंढना   मुश्किल ही नहीं नामुमकिन  “
मोदी सरकार से बेहतर किस प्रधानमंत्री कार्य ने किया इसके आकडे सहित मांगोगे तो विरोधी  तो बिन पानी के मछली जैसे छटपटाने जैसी हरकत करेंगे!
आजमा के देखलो
🙏🙏🙏🙏🙏
एक बार फीर मोदी सरकार….

कॉंग्रेस पाकिस्तान की भाषा बोलते है, कैसे ?

From: Vinod Karnik < >

From Pranod Agrawal < >

कॉंग्रेस और उसके नेता पाकिस्तान की भाषा बोलते है, कैसे ?

(1) कॉंग्रेस शासनकाल में जब पाकिस्तानी फौजीयों ने सीमा पर गोली और ग्रेनेड से हमला किया था तब कॉंग्रेस के रक्षा मंत्री AK Antoni ने संसद में पाकिस्तानियों का बचाओ किया और कहा की वो पाकिस्तानी फौजी नहीं थे वो कुछ सिरफिरे मुजाहिदीन थे।

पाकिस्तान बहुत खुश हुआ उस बयान पर और हर जागह भारत की किरकिरी हुई कश्मीरी पत्थरबाजों का हौसला बढाया, और भारतीय सेना का मनोबल भी गिराया था !

(2) मणिपुर में जब आतंकवादी ने हमारे लोगों को मार दिया तब मोदी जी ने बदला लेने के लिए सेना को खुला आदेश दिया। भारतीय सेना बर्मा में घुस कर आतंकवादी मार गिराए। तब कॉंग्रेस ने मोदी के इस कदम का विरोध और पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाया।

(3) जब भारतीय नौसेना ने पाकिस्तानी बोट को उड़ा दिया और सारे पाकिस्तानी को मार दिया तब भी कॉंग्रेस और उनके नेताओं ने भारतीय सेना की आलोचना की और मोदी को पाकिस्तानीओ के मौत का अपराधी कहा ।

(4) आतंकवादी इशरत जहां के मौत पर भी कॉंग्रेस ने पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाया और भारतीय पुलिस का विरोध किया, और कुछ विपक्षी दल भी कांग्रेस के साथ मिल गए इनका साथ भारतीय मुसलमानों ने खूब दिया !

(5) पाकिस्तान के इसारे पर ही “Communal Violence Bill” संसद में में पेश किया जिसमे सिर्फ हिंदुओं को ही सज़ा का प्रावधान था भले मुसलमान क्यों न दंगा फैलाएँ इसमें अली अनवर मुख्या था दिग्विजय ने भी इस बिल पर अपनी सहमती दी थी !

(6) पाकिस्तान के इसारे पर ही हिंदुओं को आतंकवादी दिखने के लिए हिन्दू नेताओं पर आतंकवादी होने का आरोप लगाया। साध्वी प्रज्ञा, असीमानंद और आशाराम बापू को भी कॉंग्रेस ने सजिस की तहत फसाया।

(7) पाकिस्तान और कॉंग्रेस और भारतीय मुस्लमानये तीनों RSS, VHP का विरोध करता है और इनके नेताओं को आतंकी कहता है जबकि दुनिया जानती है की आतंकवादी कौन होता है।

(8) दाऊद इब्राहिम को संरक्षण देने और भगाने में शरद पवार और कॉंग्रेस का हाथ था, वरना कैसे भाग जाएगा कोई भी देश छोड़ कर हवाई जहाज में।

(9) दिग्विजय सिंह, गुलाम नबी आज़ाद, सलमान खुर्शीद, अनवर अली मणिशंकर अय्यर और कई बड़े नेता का पाकिस्तान ISI से सीधा संबंध है ।

(10) जब भी कोई पाकिस्तानी या आतंकवादी पकड़ा जाता है सारे कोंग्रेसी उसके बचाओ में आ जाते हैं।

(11) अजित डोवाल का विरोध दिग्विजय और सारे कॉंग्रेस नेता ने जम कर किया था, ऐसा क्यों ?

(12) मोदीजी ने बलूचिस्तान और POK का जिक्र किया तो कुछ देश द्रोहियों के पेट में दर्द होने लगा, सबकी प्रतिक्रियां सामने आने लगी

(13) लखनऊ मुठभेड़ पर सुरक्षा एजेंसियों, यूपी पुलिस और यूपी एटीएस की सराहना करने की बजाए कांग्रेस के नेताओं ने इस पर राजनीति शुरु कर दी है।

ये पाकिस्तान प्रेम क्यों, देश के प्रति गद्दारी क्यों करते हैं अब समझ में आ रहा है की, भारत में आतंकवाद को पैर जमाने के लिए कांग्रेस और उनके नेताओं ने बहुत सहयोग किया है.

==

देखो हर साल कांग्रेस कितना काम करती थी, खोदकर लाया हूँ उनके सारे कारनामे |

1987 – बोफोर्स तोप घोटाला, 960 करोड़

1992 – शेयर घोटाला, 5,000 करोड़।।

1994 – चीनी घोटाला, 650 करोड़

1995 – प्रेफ्रेंशल अलॉटमेंट घोटाला, 5,000 करोड़

1995 – कस्टम टैक्स घोटाला, 43 करोड़

1995 – कॉबलर घोटाला, 1,000 करोड़

1995 – दीनार / हवाला घोटाला, 400 करोड़

1995 – मेघालय वन घोटाला, 300 करोड़

1996 – उर्वरक आयत घोटाला, 1,300 करोड़

1996 – चारा घोटाला, 950 करोड़

1996 – यूरिया घोटाला, 133 करोड

1997 – बिहार भूमि घोटाला, 400 करोड़

1997 – म्यूच्यूअल फण्ड घोटाला, 1,200 करोड़

1997 – सुखराम टेलिकॉम घोटाला, 1,500 करोड़

1997 – SNC पॉवेर प्रोजेक्ट घोटाला, 374 करोड़

1998 – उदय गोयल कृषि उपज घोटाला, 210 करोड़

1998 – टीक पौध घोटाला, 8,000 करोड़

2001 – डालमिया शेयर घोटाला, 595 करोड़

2001 – UTI घोटाला, 32 करोड़

2001 – केतन पारिख प्रतिभूति घोटाला, 1,000 करोड़

2002 – संजय अग्रवाल गृह निवेश घोटाला, 600 करोड़

2002 – कलकत्ता स्टॉक एक्सचेंज घोटाला, 120 करोड़

2003 – स्टाम्प घोटाला, 20,000 करोड़

2005 – आई पि ओ कॉरिडोर घोटाला, 1,000 करोड़

2005 – बिहार बाढ़ आपदा घोटाला, 17 करोड़

2005 – सौरपियन पनडुब्बी घोटाला, 18,978 करोड़

2006 – ताज कॉरिडोर घोटाला, 175 करोड़

2006 – पंजाब सिटी सेंटर घोटाला, 1,500 करोड़

2008 – काला धन, 2,10,000 करोड

2008 – सत्यम घोटाला, 8,000 करोड

2008 – सैन्य राशन घोटाला, 5,000 करोड़

2008 – स्टेट बैंक ऑफ़ सौराष्ट्र, 95 करोड़

2008 – हसन् अली हवाला घोटाला, 39,120 करोड़

2009 – उड़ीसा खदान घोटाला, 7,000 करोड़

2009 – चावल निर्यात घोटाला, 2,500 करोड़

2009 – झारखण्ड खदान घोटाला, 4,000करोड़

2009 – झारखण्ड मेडिकल उपकरण घोटाला, 130 करोड़

2010 – आदर्श घर घोटाला, 900 करोड़

2010 – खाद्यान घोटाला, 35,000 करोड़

2010 S – बैंड स्पेक्ट्रम घोटाला, 2,00,000 करोड़

2011 – 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, 1,76,000 करोड़

2011 – कॉमन वेल्थ घोटाला, 70,000 करोड़

सालो राम मंदिर और पेट्रोल पर रो रहे हो, इनमे से 5 के नाम भी पता थे क्या |

वो बेचारा अकेला इतनी मेहनत कर रहा है, पर तुम्हारी आदत है न हर चीज में डंडा करने की | अगर ये तंग आकर हट गया न तो, तुम्हे फिर यही कांग्रेस मिलेगी | जितने भी उसके बाहर घूमने से परेशान है, वो बाहर हनीमून नही मना रहा है | सुरक्षा मजबूत कर रहा है अपने देश की | आज तुम सबको को किसान दिख रहे, हैं और जब यूरिया और खाद घोटाला हुये तो, कुछ नही दिखा |

अगर दिल में अभी भी थोडीसी भी सच्ची जीवित हैं, तो इस पोस्ट को शेअर करो और लोगों को भी निंद से जगाओ |

मोदीजी को प्रधानमंत्री बने, 4 वर्ष भी नहीं हुआ की, अच्छे दिन का ताना मारने लगे हैं कुछ लोग | वो लोग जर इनका भी कार्य काल देखो, और इन्होने क्या क्या किया हैं सोचो |

  1. जवाहरलाल नेहरु, 16 वर्ष 286 दिन
  2. इंदिरा गाँधी, 15 वर्ष 91 दिन
  3. राजीव गाँधी, 5 वर्ष 32 दिन
  4. मनमोहन सिंह, 10 वर्ष 4 दिन

*कुल मिला कर 47 वर्ष 48 दिन में अच्छे दिन को ढूंढ नहीं सके और 3 वर्ष में हीं अच्छे दिन चाहिए*

 *अगर श्री नरेन्द्र मोदी 2019 हार जायें तब क्या हो सकता है ?*

बहुत से लोग रात दिन यही दुआ करते हैं,कि नरेंद्र मोदी 2019 का चुनाव हार जाये।

मुझसे भी कई लोगों ने पूछा,कि क्या होगा अगर मोदी 2019 का चुनाव हार जाये,तो?मैंने जवाब दिया. . . ज्यादा कुछ नही होगा. . . बस

  1. यह देश अचानक से सहिष्णु बन जायेगा!
  2. कपड़े पर से GST हट जाएगी !
  3. सेना की हर खरीदी में मैडम का 50%कमीशन होगा !
  4. आमिर खान और उनकी पत्नी और अंसारी जैसों को,यह देश फिर से सुरक्षित नज़र आने लगेगा!
  5. देश में उन लोगों को सरकार में महत्वपूर्ण पद मिलेंगे जो खूनी,बलात्कारी, भ्रष्टाचारी होंगे!
  6. कश्मीर में फिर से अलगाववादी और जेहादी ताकतें मजबूत होंगी!
  7. पाकिस्तान एक बार फिर से अपना प्रोपेगंडा मजबूत करेगा क्योंकि सरकार के लोग जो वहां मोदी जी को हटाने की भीख मांगने गये थें वो पाकिस्तान की नमक हलाली करेंगे!
  8. लव जिहाद और हलाला संग तीन तलाक पूरी तरह से कानूनी बन जायेगा!
  9. ममता बनर्जी बंगाल को पूरी तरह से बंगलादेशी मुसलमानों के हाथ में देकर,जन्नत के लिए प्रस्थान कर जायेगी
  10. एक ऐसा आदमी हमारा प्रधानमंत्री बनेगा जो पूरी दुनिया में मज़ाक का पात्र बनेगा,जिसे लोग देहाती औरत कहेंगे।
  11. रोबर्ट वाड्रा पूरे हरियाणा को खरीद लेगा।
  12. देश में एक से एक बड़े घोटाले होंगे जो पिछले 70 सालों के रिकॉर्ड तोड़ देंगे!
  13. अवार्ड वापसी वाली गैंग के अवार्ड वापस दे दिए जाएंगे और कुछ को तो पद्मश्री भी मिलेगा!
  14. हर योजना में गाँधी परिवार और नेहरू का नाम होगा!
  15. न्यूज़ चैनल्स नये-नये स्कैम्स की TRP से भर जाएंगे!
  16. मोदी गुजरात वापस चले जायेंगे जहाँ उसकी जनता उनको फिर से गुजरात का CM बना देगी क्योंकि उनको पता है कि मोदी जी ही उनका विकास कर सकते हैं।
  17. स्किल इंडिया प्लान स्कैम इंडिया प्लान बन जायेगा।
  18. आतंकवादी हमले फिर से बढ़ जाएंगे जहाँ देश की सेना को हमला करने की इजाज़त के लिए 5 दिन का इंतज़ार करना पड़ेगा!
  19. मीडिया योगी के पीछे पड़ जायेगी जैसे वो मोदी के पीछे पड़ी थी UPA सरकार के दौरान!
  20. हर साल इंदिरा गाँधी और राजीव गाँधी के नाम पर दो योजनाएं लॉन्च होंगी!
  21. नार्थ ईस्ट को पहले की तरह,कभी केंद्र से मदद नहीं मिलेगी!
  22. अरविंद केजरीवाल को राजनीति का मसीहा घोषित कर दिया जाएगा!
  23. देश के संसाधनों पर मुसलमानों का पहला हक होगा!
  24. लोगों को यह अहसास होगा कि उन्होंने गलती कर दी,मगर तब तक बहुत देर हो चुकी होगी!
  25. और मोदी???????

वो अपना बचा हुआ जीवन इस सुकून में बिताएंगे : ”कम से कम मैने कोशिश तो की थी।

 

Europe Crisis – Prof. Vaidyanathan & Rajiv Malhotra

This is worth knowing.

The best way to fight Islamic terrorism  for the non-Muslim counties is to amend the constitution and declare Islam illegal.

The modernization in Europe is producing children without marriage, no restriction on sex for any age, use of alcohol or drugs, dresses for women that hardly cover their bodies, people quitting Christian religious practice, etc.

Muslims want to create Islamic Caliphate in Europe. Muslims are against the modernity.

Europe has lost will to fight; Muslims always fight.

If Europe comes under the control of Islam, then it would be a great danger for Bharat desh and the world.

If Bharat is requested fight for Europe against Islam, then I suggest:

  • As soon as possible purge out Islam from Bharat, proving that we can win over Islam.
  • In Europe compete against the spread of Islam by spreading the Vedic Dharma. More success you get in this will be less requirement to fight violently
  • The Hindus in Bharat must stop malpractice of Dharma such as caste by birth. Else the Hindus cannot win over Islam anywhere.
  • The Hindus must stay united and act with unity to serve dharma and national interests.

jaya sri krishna!

Suresh Vyas