संस्कृत के 2500 से ज्यादा साल पुराने प्रमाण देती खुद (anti-Hindu) NCERT Books, अलबरूनी।

About NCERT (anti-Hindu):

The National Council of Educational Research and Training (NCERT) is an autonomous organisation of the Government of India which was established in 1961 as a literary, scientific and charitable Society under the Societies’ Registration Act (Act XXI of 1860). – Wiki

Comment by:

कब तक जलावोगे बारूद भरे रावण के पुतले को जब खुले आम जिंदा जिहादी रावण आतंक फैलाते घूम रहे हैं❓
जाग जावो हे राम 🙏
धर्म रुपी सीता का हरण* कर रहे हैं जिहादी रावण.
संहार अब रावण का करना है
आतंकी जिहाद को मिटाना है
धर्म रूपी सीता को बचाना है 🔥
फिर विजय दशमी मनाना है 🚩

 

#कुरान कहती है किसी #हिन्दू को #जीवित रहने का अधिकार नही है – नरसिंह वाणी

#कुरान कहती है किसी #हिन्दू को #जीवित रहने का अधिकार नही है – नरसिंह वाणी ( Narsingh Vani ) #किसी_हिन्दू_को_जीवित_रहने_का_अधिकार_नही_है #NarsinghVani नरसिंह वाणी यह चैनल गुरुदेव यति नरसिंहानन्द सरस्वती जी के मार्गदर्शन में हिन्दुओ पर हुए अत्याचार / बलात्कार व उनके छुपाए गये इतिहास पर आधारित है जिसका सम्बंध तथाकथित कौमीकट्टरवाद इस्लामिकजिहाद से है । ( नोट – द्वारा अनुच्छेद 19 ” राष्‍ट्र की सार्वभौमिक मानवाधिकारों के घोषणा पत्र में मानवाधिकारों को परिभाषित किया गया है । इसके अनुच्‍छेद 19 में कहा गया है कि किसी भी व्‍यक्ति के पास अभिव्‍यक्ति की स्‍वतंत्रता का अधिकार होगा जिसके तहत वह किसी भी तरह के विचारों और सूचनाओं के आदान-प्रदान को स्‍वतंत्र होगा ) कृपया ध्यान दे – भारतीय संविधान के अनुच्छेद १९(१) के तहत यह चैनल हिन्दुओ की अभिव्यक्ति की आजादी के माँग करता है । साथ ही उन्हें उनके वास्तविक इतिहास / उनके द्वारा निर्माण किये गए भवन, किले, स्मारको व अन्य स्थलो व उनपर किये गए अत्याचारो को समाज के सामने लाने की पहल करता है जिससे हिन्दू समाज वर्तमान समय मे अपने द्वारा की गयी गलतियों से यह सिख ले सके व समझ सके कि क्यों उनकी मासूम बेटियो व उनकी औरतों का बलात्कार करके विधर्मीयो द्वारा मंडियों में बेचा गया व उनको 1300 तेरह सौ वर्षों तक गुलाम बने रहना पड़ा साथ ही उसे यह पता हो कि उसका वास्तविक इतिहास क्या है । धन्यवाद … Team – Narsingh Vani

Please Save the Kurds, (not Islam)

From: Rajput < >

APPEAL TO THE CONSCIENCE OF HUMANITY
Please save the Kurds.
Turkish forces have entered northern Syria to wipe out the brave Kurds who were earlier allies of the West in fighting the Islamic State (Daesh). Thousands of their young men and women fell for the cause of freedom.
Turkey calls them “terrorists” and wishes to enslave or kill them. In their hour of extreme peril the brave Kurdish minority has no allies except the West, especially the USA. All eyes are, therefore, on Donald Trump, the President of the United States, and the NATO.
It is a fight between the UNEQUALS and UNFAIR by all rules of ethics and humanity.
We appeal to the conscience of the world, in particular the super power No. 1, the USA, and NATO, to restrain Turkey, and ask her to stop her aggression against the Kurds in northern Syria immediately, thus preventing further loss of life. It is heart breaking to see Turkey destroying families and creating more widows and orphans on earth.
Today is Sunday, a day of prayer on earth. Let us, therefore, pray for the safety and survival of the Kurds in their homeland.
We commend the United Kingdom for their plans to evacuate the children and bring them to safety and take care of their education. Bharat could join in, too.
At the moment there is no other pressing humanitarian emergency on earth except to save the Kurds from Turkey obsessed with her ambition to re-create the old Turkish empire. The idea is as dangerous for free mankind as the Islamic State (Caliphate or Daesh).
rajput
Sunday 13 October 2019.