From: pvtint < >

My SERIOUS-STRICT-STRONG Message to Honorable President, PMO, MHA, Governor, CM, Defense, Military Forces, Global Citizens, NGOs, VHP/RSS/Sangh and Global Media.

Title1: All India Association of Criminals, Murderers, Terrorists, Fraudsters and Every Other Types of Criminals – We Citizens Request Security, Safety and Justice From You.
 
Title2: ऐसा लगता है कि अब कोई और चारा नही बचा – अगर भारतीय संविधान, कानून, पुलिस और नेता हमारी रक्षा नही कर सकते, तो फिर अपराधियों, गुंडो, खूनियों, आतंकवादियों और गुनाहगारों से ही मदद मांगनी पड़ेगी।
 
Title3: All India Politicians, Parliamentarians, MPs, MLAs, Constitutionally Responsible People and Judiciary People, Administrative People and Police – You All Failed in Providing Security, Safety and Justice to Citizens.
 
आज मुझे ऐसा कंटेंट लिख़ने की नौबत क्यों आयी? अपराधियों, गुंडो, खूनियों, आतंकवादियों और गुनाहगारों से मदद क्यों मांगनी पड़ रही है? उसका कारण समझने की ज़रूरत है। इसी पर आज का ये कंटेंट समर्पित करता हूँ।
 
आदरणीय राष्ट्रपति जी, प्रधानमंत्री जी, रक्षामंत्री जी एवं गृहमंत्री जी,
 
आप इस कंटेंट को ज़रूर पढ़े, और पढ़ कर मुझ पर अत्याधिक क्रोध करें – ये ही मेरे इस कंटेंट का मकसद है। क्योंकि जब तक आपको मुझपे क्रोध नहीं आएगा, तब तक आप आप एक्शन नहीं लेंगे। क्योंकि प्यार से, इज़्ज़त और सम्मान से, संवैधानिक एवं कानूनी तरीके से तो, स्वयं मैं भी, और देश के करोड़ों लोग भी, आपसे नम्र निवेदन कर चुके। लेकिन अब तक आप लोगों ने हमारे उन कानूनी नम्र निवेदनों पर कोई ध्यान नही दिया, न एक्शन लिया। जी हाँ, मैं महाराष्ट्र में हो रहे अत्याचारों की ही बात कर रहा हूँ। एक सम्मानित पत्रकार अर्णब गोस्वामी बेचारा रो-रो कर केंद्र सरकार से, सुप्रीम कोर्ट से, राष्ट्रपति से, जनता से; अपने प्राणों की रक्षा की भीख मांग रहा है – लेकिन आप में से किसी ने भी अभी तक इस पर कोई कार्यवाही नही की। इतने सारे नागरिक सड़क पर आकर महाराष्ट्र में 356 के तहत आपातकाल(emergency) घोसित करने की प्रार्थना कर रहे है, ताकि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शाशन लागू किया जा सके। लेकिन वो भी आपको दिखाई नही दे रहा। ये तो वाकई में बड़ा बहादुरी का काम कर रहे हो आप। अच्छा है, मारने दो सालों को। वैसे भी आम लोग जीकर क्या करेंगे, फालतू मैं देश की जनसंख्या बढ़ाएंगे – क्यों सही कहा न मैंने? प्रधानमंत्री जी और गृहमंत्री जी की एक आवाज़ पर हम दीपक भी जलाते है, हम ताली-बर्तन भी बजाते है, हम आज्ञा का पालन भी करते है और हम ज़रूरत पड़ने पर क्षमा भी मांग लेते है। लेकिन ये अंबेडकर जी का कौनसा संविधान या कानून है, जो आपकी एक आवाज पर तुरंत कार्य करे, और जनता के हज़ारों-लाखों आवाज़ पर, एक बार भी सुनवाई न करें? इसलिए आज के कंटेंट के टाइटल मैं, मैंने अपराधियों, गुंडो, खूनियों, आतंकवादियों और गुनाहगारों से मदद माँगने की बात लिखी है। ताकि आप सभी पढ़ने वालों को कुछ एहसास हो, अपनी ज़िम्मेदारीयों के पालन का। The complaints/grievances registered by my does contain several strong reasons for termination of Maharahtra Government. It’s not just about Mr. Arnab Goswami. It’s about a large amount of population in general, who are suffering due to misuse and abuse of powers by state government, state administration and state police.
 
Finally: The point is that, please take action on my pending grievances to PMO, HM, SC, PRESIDENT, etc. for termination of Maharashtra Government under rule 356 of constitution. The unattended pending grievance complaint numbers are:
 
1) PMOPG/D/2020/0208028 
2) PMOPG/E/2020/0828343
 
If anything happens to Mr. Arnab Goswami under the Maharashtra Government and Maharashtra Police; you all responsible for maintaining law and order, judicial process and the constitutional dignity; shall all be equally considered responsible, if you don’t take immediate actions without any delay. That’s the point to note and understand!
 
NOTE: I am transmitting this message throughout my “VVIP NATIONAL PRIVATE MESSAGING NETWORK” across India. Keep forwarding across your entire contact database on your mobile. इस संदेश को कृपया मेरी तरह, आपके कॉन्टैक्ट लिस्ट के सभी लोगों को भी फॉरवर्ड करें। धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो।
Have a great day everyday,
Sincerely
Kalpesh Sharma
My Slogan: I Just Don’t Speak, I Make Things Happen.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s