भारत मे ईस्लाम का बडा खतरा । हिन्दू जागे।

From: Santosh Verma < >

*इस्लाम – भारत में दूसरा सबसे बड़ा धर्म है*

*सावधान :- सऊदी अरब के प्रोफेसर नासिर बिन सुलेमान उल उमर का कहना है कि भारत गहरी नींद में है*

*सऊदीअरब* के प्रोफेसर नासिर बिन सुलेमान उल उमर  कहते हैं कि भारत गहरी नींद में है। इस्लाम तेजी से बढ़ रहा है और हजारों मुसलमानों ने पुलिस, सेना, नौकरशाही आदि में घुसपैठ करके सिस्टम में प्रवेश कर लिया है और इस्लाम भारत में दूसरा सबसे बड़ा धर्म है।

आज भारत भी विनाश के कगार पर है।जिस प्रकार किसी राष्ट्र के उदय में दशकों लग जाते हैं, उसी प्रकार उसके विनाश में भी समय लगता है।

भारत रातों-रात खत्म नहीं होगा।  इसे धीरे-धीरे खत्म किया जाएगा।हम मुसलमान लगातार और बहुत गंभीरता से उस पर काम कर रहे हैं।भारत निश्चित रूप से नष्ट हो जाएगा।
भारत में हर दिन लगभग 65,000 बच्चे जन्म लेते हैं।  इनमें से लगभग 40,000 मुस्लिम बच्चे हैं, जबकि हिंदुओं और अन्य धर्मों के लगभग 25000 हैं। यानी मुसलमानों की कुल आबादी का लगभग 20% बाल जन्म दर  है !!! अब पैदा होने वाले बच्चों में, मुस्लिम बहुसंख्यक हैं, … और हिंदू अल्पसंख्यक हैं। इस दर से, 2050 तक, भारत में मुसलमान बहुसंख्यक हो जाएंगे।

*कोई भी भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनने से नहीं रोक पाएगा* क्योंकि भारत तुरंत दंगों की आग में झुलस जाएगा ।हम मुसलमान हिंदुओं को मार कर खत्म कर देंगे। आज सरकारी आंकड़ों के अनुसार मुसलमानों की आबादी लगभग 20% है,  लेकिन वास्तव में वे 25% पार कर चुके हैं।

*सरकारी आंकड़े गलत हैं क्योंकि  वहाबी मुसलमान जानबूझकर मतगणना के समय अपनी वास्तविक संख्या छिपाते हैं और दर्ज नहीं कराते हैं* ताकि उनकी आबादी का हथियार छुपा रहे, जिससे कि काफ़िर हिन्दू अनजान बने रहें ।

*भारत में धर्मनिरपेक्षता के नाम पर अपार धोखा है, लेकिन हिंदू के लिए दुर्भाग्य की बात यह है कि वे अभी भी गहरी नींद में हैं*
*यह आश्चर्य की बात है कि हिंदू अपने कश्मीर को क्यों नहीं देखता है, जहां हिंदुओं को अपनी पूरी संपत्ति और अपनी लड़कियों और महिलाओं को छोड़कर भागना पड़ा।*

*भारत में धर्मनिरपेक्षता तभी तक है जब तक हिंदू बहुसंख्यक हैं और जब वे अल्पसंख्यक होंगे तब हम क्या करेंगे वो नहीं जानते  ????*

*ये मूर्ख हिन्दू इसे पाकिस्तान और बांग्लादेश के काफिरों के आंकड़ों से भी नहीं समझ पाते हैं। “*

*हिंदू बिलकुल नहीं बोलता, चुप रहता है, एक उच्च नैतिक आधार लेता है, ….. इसलिए, इनका भाग्य डूबना निश्चित है …. !!!*

*पाकिस्तान और बांग्लादेश या कश्मीर .. कहीं से देखो, इनका खात्मा निश्चित हैl*

*केरल, बंगाल, उत्तर प्रदेश एवं अन्य राज्यों के मुस्लिम-बहुल क्षेत्रों का निरीक्षण करें, जहाँ काफ़िर लगातार मुस्लिम इलाकों से हिंदू बस्तियों की ओर पलायन करते रहे हैं।*

*कभी अपने शहर की मुस्लिम आबादी के साथ बस्ती में जाइए और इन घूरती हुई आँखों के बीच में अपनी सांस रोककर देखिए!*

*इसके अलावा, ज़ाम्बिया और मलेशिया जैसे देशों के शानदार उदाहरण भी मौजूद हैं।*

जैसे ही मुसलमान बहुमत मेंआए, इन धर्मनिरपेक्ष देशों को इस्लामिक देश घोषित कर दिया गया।

*लंदन, स्वीडन, फ्रांस, नॉर्वे के उदाहरण मौजूद हैं, वहां हर दिन हिंसा हो रही है। “*

कभी सोचिए कि ऐसा क्यों हो रहा है? कौन कर रहा है ??  मकसद क्या है ??

यह शांतिदूतों की चालबाजी का एक हिस्सा है, लोगों में इतनी दहशत पैदा करने के लिए, उनके दिल में ऐसा डर पैदा करें कि उनमें बोलने की हिम्मत ही न हो!  क्या आपको समझ नहीं आ रहा है कि,  ये लोग नमाज़ के नाम पर दिन में 5 बार मस्जिद में जमा हो रहे हैं, और आप के खिलाफ साजिश रच रहे हैं !! !!  प्रतिज्ञा लेते हुए, आपको खत्म करने का संकल्प एक दिन में 5 बार….!!!

इसलिए, आंखें और मुंह बंद करने से परेशानी नहीं होगी।  अब समय आ गया है कि आप अपनी आँखें खोलें और अपना मुँह खोलें और लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूक रहें …..
ऐसा न हो कि बहुत देर हो जाए ……. समय कम है  !!!! सोचें और समझें ….
अग्रवाल साहब ने अपने नौकर अब्दुल से पूछा- मेरे पास 2 बच्चे हैं, मुझे उनके भविष्य की चिंता होती है, लेकिन तुम्हारे 12 हैं फिर भी तुम्हें चिंता नहीं होती।

अब्दुल्ला- मालिक, 25 साल बाद मेरे 12 बेटे मिलकर आपकी इस दुकान पर कब्जा कर लेंगे।

आप हमारे लिए ही तो कमा रहे हैं, चिंता क्यूं करुंगा।

सियालकोट, लाहौर, गुजराँवाला, करांची के हिन्दू सेठो ने हमारे लिए ही तो बड़ी बड़ी हवेलियां दुकान आदि बनवाई

और आजाद भारत में भी कश्मीर में कश्मीरी हिंदुओं ने हमारे लिए ही तो बड़े-बड़े हवेली मकान दुकान सब बनवाएं,

और अंत में हमने ले लिया तो चिंता हमे नहीं आपको करनी है .

*इन्होंने तुम्हारा भविष्य तय कर दिया है, बस मोदी के हटने की देर है। हर हिंदू भाई तक पहुंचाएं इस सच्चाई को। आँखे खोलकर देखो और कान साफ करके हर हिंदू सुनें। आपके फोन में जितने भी WhatsApp नंबर है सभी को शेयर करें हर एक हिन्दू को भेजें*।